पोर्टल के बारे में

जलवायु के बदलते स्वरूप की वजह से सूखे, बाढ़ और तूफान जैसी प्राकृतिक आपदाओं का खतरा बड़ा होता जा रहा है। गरीब और ग्रामीण आबादी अपनी जीविका के लिए प्राकृतिक संसाधनों पर ज्यादा निर्भर होने की वजह से परिस्थितिकीय बदलाव से ज्यादा प्रभावित होती है।

प्रदेश जलवायु परिवर्तन ज्ञान प्रबंधन केंद्र (एससीसीकेएमसी) मध्य प्रदेश सरकार और यूएनडीपी की साझेदारी में शुरू किया गया जयवायु परिवर्तन संबंधी ज्ञान का एक समग्र पोर्टल है। यह पोर्टल जयवायु परिवर्तन से जुड़ी खबरों, सूचना और ज्ञान व शोध को एक जगह लाने, आपस में जोड़ने और लोगों के बीच पहुंचाने के व्यापक उद्देश्य से शुरू किया गया है।
इस पोर्टल के जरिए जयवायु परिवर्तन से संबंधित ज्ञान को राज्य के ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचाने के साथ ही राज्य में जयवायु परिवर्तन से जुड़े विभिन्न मुद्दों के बारे में जागरुकता भी पैदा करने की कोशिश की जाएगी।

पोर्टल के उद्देश्य
मध्य प्रदेश सरकार ने जलवायु परिवर्तन को अत्यधिक प्राथमिकता दी है। पर्यावरण नियोजन एवं समन्वय संगठन (Environmental Planning and Coordination Organisation/ एपको) को राज्य में जलवायु परिवर्तन संबंधी विषयों के लिए नोडल एजेंसी बनाया गया है। एपको में अलग से एक जलवायु परिवर्तन सेल भी गठित किया गया है।
जलवायु परिवर्तन पर यह संवादमूलक ज्ञान पोर्टल मुख्य तौर पर तीन तरह के उपयोक्ताओं की जरूरतों को ध्यान में रख कर तैयार किया गया है। इसके जरिए जहां नीति निर्माता और उनको लागू करने वाले लोगों की जरूरतों को पूरा करने की कोशिश की जाएगी, वहीं विशेषज्ञों और इस क्षेत्र में काम कर रहे पेशेवरों को भी ध्यान में रखा जाएगा। तीसरी श्रेणी में सिविल सोसाइटी और आम लोग हैं, जिनकी आवश्यकताओं को इस इंटरेक्टिव वेबसाइट को पूरा करना है।

इस पोर्टल के उद्देश्य हैं -

  • जलवायु परिवर्तन पर ज्ञान को सामने लाने में सहायता करना और उसे राज्य के सभी नागरिको व समुदायों तक पहुंचाना। 
  • मध्य प्रदेश से जुड़े जलवायु परिवर्तन के मुद्दों पर जागरुकता लाना। 
  • जलवायु परिवर्तन पर एक संवादमूलक ढांचा उपलब्ध करवाना। 

यह पोर्टल जलवायु परिवर्तन संबंधी विषयों के लिए एक इलेक्ट्रोनिक ज्ञान-भंडार के रूप में काम करना चाहता है। ऐसा ठिकाना जहां स्थानीय, राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय विषयों पर एक साथ सभी अहम जानकारियाँ मिल सके। जलवायु परिवर्तन से जुड़े मुद्दों पर यह उपयोगकर्ताओं की तकनीकी और नीति संबंधी शंकाओं का समाधान करने का भी साधन बनेगा। 

यह पोर्टल समुदाय आधारित नए प्रयोगों और अनुभवों को साझा करने के लिए एक मंच भी उपलब्ध करवा रहा है। साथ ही यह संभाग स्तर पर स्थापित ‘कम्यूनिटी-बेस्ड क्लाइमेट पल्स सेंटर’ (सीसीपीसी) को एक बड़े जन समूह से जोड़ पाएगा। उच्च स्तरीय तकनीकी आलेखों को सार रूप में सामान्य जन के लिए पेश करेगा। केंद्र, राज्य और जिला स्तर के आंकड़ों और सूचनाओं को सामान्य उपयोक्ताओं के लिए साधारण और आसानी से समझे जा सकने वाले रूप में सामने लाएगा।