आर्द्रता विश्लेषिकी

मध्य प्रदेश आर्द्रता डेटा विज़ुअलाइज़ेशन

हम मौसम की खबरों में हमेशा आपेक्षिक आर्द्रता के बारे में अक्सर सुनते हैं | आपेक्षित आर्द्रता हवा द्वारा अवशोषित पानी की मात्रा को बताता है जिसे इस प्रकार परिभाषित किया जा सकता है "वायु के एक निश्चित आयतन में किसी ताप पर जितना जलवाष्प विद्यमान होता है और उतनी ही वायु को उसी ताप पर संतृप्त करने के लिए जितने जलवाष्प की आवश्यकता होती है, इन दोनों राशियों के अनुपात को आपेक्षिक आर्द्रता (Relative humidity या RH) कहते हैं" | उदहारण के लिए एक घन मीटर 30 ग्राम जल वाष्प अवशोषित कर सकती है परन्तु एक घन मीटर वायु में केवल 15 ग्राम जलवाष्प है तो गणितीय सूत्र के अनुसार आपेक्षिक आर्द्रता% = (वायु जितनी मात्रा में जल वाष्प अवशोषित कर सकती है (30)) / (वायु में जितनी जलवाष्प उपस्थित है (15)) X 100 उपरोक्तानुसार आपेक्षिक आर्द्रता = 50 % होगी | इसका आशय यह है कि वायु में 50 प्रतिशत आर्द्रता है | पृथ्वी पर मौसम एवं जलवायु के दशा के निर्धारण में इसकी बहुत अहम् भूमिका होती है | आपेक्षिक आर्द्रता की कम एवं अधिक मात्रा के परिणामस्वरूप ही वहां तापमान एवं वर्षा हो सकती है | जलवाष्प भी अपने आप में एक अत्यंत शक्तिशाली ग्रीन हॉउस गैस है जो लगभग 56 प्रतिशत ग्लोबल वार्मिंग में हिस्सेदारी रखता है |

मध्य प्रदेश मौसम केंद्र में आर्द्रता परिवर्तन

  • कोई डेटा उपलब्ध नहीं है
  • 0 से < 10%
  • 10 से < 20%
  • 20 से < 30%
  • 30 से < 40%
  • 40 से < 50%
  • 50 से < 60%
  • 60 से < 70%
  • 70% से ऊपर

आर्द्रता परिवर्तन में मध्य प्रदेश का वार्षिक रुझान

मासिक ड्रिल रिपोर्ट उपलब्ध

आर्द्रता प्रवृत्ति के लिए मौसम केंद्र वार तुलनात्मक विश्लेषण

मासिक ड्रिल रिपोर्ट उपलब्ध

उच्चतम और सबसे कम आर्द्रता वाला मौसम केंद्र