एस.के.एम्.सी.सी.सी संसाधन

सार्वजनिक प्राकृतिक संसाधनों की रक्षा के लिए सामुदायिक संस्थानों को सशक्त...

प्राकृतिक संसाधनों के संरक्षण के साथ ही दीर्घकालिक विकास का संतुलन कैसे बनाया जाए, इसे इस केस स्टडी से आसानी से समझा जा सकता है। इसे नाम दिया गया है- ‘मध्य प्रदेश के मंडला जिले में सामूहिक प्राकृतिक संसाधनों के संवहनीय प्रशासन का संवर्द्धन’। मंडला में सतपुडा की पहाड़ियों पर स्थ

  • जून 16, 2014
  • Resources Type
    : व्यष्टि अध्ययन
Read More

भोपाल नगर निगम ने ‘टीम अप टू क्लीन अप’ के जरिए ठोस कचरा प्रबंधन को किया...

शहरों में नागरिकों के जीवन को सुचारू बनाए रखने के लिए ठोस कचरे का प्रबंधन बहुत जरूरी है। भारत में शहरी विकास के क्षेत्र में यह एक बड़ी चुनौती बना हुआ है। कचरे का ठीक प्रबंधन और निराकरण नहीं होने पर यह ना सिर्फ पर्यावरण को भारी नुकसान पहुंचाता है, बल्कि जल जनित बीमारियों करता है

  • जून 16, 2014
  • Resources Type
    : व्यष्टि अध्ययन
Read More