भारत ने अंतरराष्ट्रीय एकजुटता पर जोर दिया

लीमा में शुरू होने जा रही पर्यावरण संबंधी बातचीत को 2015 में होने वाले जलवायु परिवर्तन संबंधी नए समझौते के लिहाज से बेहद अहम माना जा रहा है। इस समझौते में भाग लेने के लिए जा रहा भारतीय दल चाहता है कि इसमें भाग ले रहे सभी देश जलवायु परिवर्तन के खतरे से निपटने के लिए साझा उपाय सोचने पर जोर दें।

केंद्रीय पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि हमारा लक्ष्य स्वच्छ वायु, स्वच्छ जल और स्वच्छ ऊर्जा प्राप्त करना होगा। साथ ही हमारी प्राथमिकता होगी कि इस अंतरराष्ट्रीय चुनौती का सामना करने के लिए सभी देश एकजुट हों।

इस संबंध में अंग्रेजी में विस्तार से पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

विषय-वस्तु:पर्यावरण
प्रकाशित तिथि:जनवरी 28, 2015
सभी चित्र को देखें